Section 269ST – Mode of Undertaking Transaction


In Finance Act 2017 a new section 269ST has been introdeced into the Income Tax Act 1961. It provided restriction on cash transaction. The limit of the transaction is Rs. 2 lakhs. In this article we try to look impact on taxpayers.

No person shall receive an amount of two lakh rupees or more, by cash:

(a) in aggregate from a person in a day; or

So one person in a day : above Rs. 2 lacs not allowed even though he may be receiveing for various transactions which are below 2 lacs in individual.

(b) in respect of a single transaction; or

(c) in respect of transactions relating to one event or occasion from one person.

The provisions of this section is not applicable to;

i) Government;

ii) any banking company, post office saving bank

iii) co-operative bank

U/s 271 DA Penalty for falure to comply with provisions of section 269ST.

The penalty for violation of section 269ST will be equal to the amount of such receipt. However, no penalty is leabyable if person proves that there were good and sufficient reasons for the contravention.

It is on receipt side. The character of receipt is irrelevant i.e. exempt income / taxable income etc. There is no exemption even for sale of agricultural produce.

 

In view of the newly introduced above said penal provisions relating to cash sales, the existing provisions (in vogue from 1.6.2016) relating to collection of TCS @ 1% on cash sales exceeding Rs.2 lakhs (Rs.5 lakhs, in the case of jewellery) are deleted. Consequently, there is no need to collect TCS on cash sales exceeding Rs.2 lakhs. Straight away it will attract equal amount penalty now.

 

Sec 269ST को जानें:

किस पर लगेगा: अगर कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति से 2 lakh से ज़्यादा पैसे प्राप्त करता है:

a. एक दिन में एक person से , या
b. एक दिन में एक transaction के लिए , या
c. एक event या एक transaction के लिए

a. Example 1: अगर MR. A ने MR. B को दो बार अलग अलग date को माल बेचा। जिनका अमाउंट 1.25 lakh और 1.20 lakh था। अगर MR. A एक दिन में MR. B से 2 lakh से ज़्यादा की पेमेंट cash में लेता है तो MR. A पर 100 % की पेनल्टी लगेगी।
Example 2: अगर कोई व्यक्ति अपने बैंक खाते से एक दिन में 2 lakh से ज़्यादा cash एक दिन में निकालता है, तो उस व्यक्ति पर 100% की पेनल्टी लगेगी।
b. अगर MR. P ने MR. Q को एक बिल के against 3 Lakh का माल बेचा। उस की पेमेंट 1.25 lakh और 1.75 lakh दो अलग अलग date को cash में ली तो MR P पर 100 % की पेनल्टी लगेगी।
c. अगर शादी में गार्डन वाले ने गार्डन बुक करके 2 lakh से ज़्यादा की पेमेंट cash में ली, तो उस गार्डन के मालिक पर 100% पेनल्टी लगेगी।
d. अगर किसी गाड़ी के विक्रेता ने कोई गाड़ी बेच कर 2 lakh से ज़्यादा की पेमेंट cash में ली, तो उस गाड़ी के विक्रेता पर 100 % पेनल्टी लगेगी।

किस किस पर ये provision apply नहीं होते:

अगर पैसा receive करने वाला Government, Banking Company and Post Office हो।

क्या यह पेनल्टी personal लेन देन पर भी लगेगी?? जी हाँ बिलकुल लगेगी।

Example:
Mr. A ने MR B को एक residential house बेचा और 2 lakh से ज़्यादा cash प्राप्त किया। तो MR A पर 100 % पेनल्टी लगेगी।

क्या ये पेनल्टी उस अमाउंट पर भी लगेगी जिस पर टैक्स नहीं लगता (i.e. Exempt income) : जी हाँ

Example:
MR A ने अपने भाई MR B को 4 lakh का Gift cash में दिया ।
Mr B पर पेनल्टी लगेगी।

2 Comments

  • Rajiv (#)
    April 5th, 2017

    Nice Article

    • caaryendra (#)
      April 6th, 2017

      Thanks

Leave a Reply